Sunday, July 21, 2024
चर्चित समाचार

अजब गजब

Top Banner

 

*कार में इंसानी खोपड़ी लेकर अस्पताल पहुंचा नागा साधु*

*पुरुष से बना महिला, सामने आई हैरान करने वाली वजह*

मध्य प्रदेश के इंदौर में अनोखा मामला सामने आया है, जिसने लोगों के रोंगटे खड़े कर दिए हैं. केदारनाथ के अघोरी बाबा लिंग परिवर्तन सर्जरी के लिए एक निजी अस्पताल पहुंचे हैं. उनकी कार में इंसानी खोपड़ी थी. कार में अन्य तांत्रिक अनुष्ठानों की सामग्री भी है. फिर……

*राधिका कोडवानी / ऋषि मिश्र*

27 वर्षीय नागा साधु लंबे वक्त से इंदौर के एक अस्पताल के संपर्क में थे. उन्होंने चेन्नई में अपने सभी टेस्ट करवा लिए थे. फिर बाबा ने इंदौर के भंडारी अस्पताल में अपना जेंडर पुरुष से महिला में बदलवाया. लिंग परिवर्तन की यह सर्जरी पांच घंटे तक चली. इस सर्जरी को हॉस्पिटल के प्लास्टिक कॉस्मेटिक और री-कंस्ट्रक्टिव सर्जन डॉ. अश्विन ने किया. इंदौर के हॉस्पिटल में भर्ती हुए बाबा की प्राइमरी सर्जरी चेन्नई में हुई. इसके बाद इंदौर आए डॉक्टरों के अनुसार, बाबा की जेंडर चेंज सर्जरी सफल रही. ये साधु साउथ इंडिया से हैं और एक ब्राह्मण परिवार से ताल्लुक रखते हैं. जानकारी के मुताबिक, सालों पहले अघोरी ने अपने परिवार को छोड़ दिया और उत्तराखंड के केदारनाथ में साधु का जीवन जी रहे हैं.

इधर ये बात भी सामने आई है कि कुछ समय पहले चेन्नई में जेंडर चेंज सर्जरी में उनके शरीर से कुछ पुरुष अंग निकाले गए थे. वहीं, सर्जरी के बाद इंदौर लौटने पर उन्होंने सभी जरूरी सर्टिफिकेट बनवाए और अपने आधार और पैन कार्ड को अपडेट किया.

अघोरी बाबा ने डेढ़ साल पहले ‘अर्धनारीश्वर’ बनने का सपना देखा था, इस सपने को पूरा करने का जुनून इतना कि अकेले कार चलाकर इंदौर पहुंच गए और जेंडर ही चेंज करवा लिया. अघोरी बाबा से मिलने के लिए उनके कुछ परिचित अस्पताल में प्रयास करते रहे, लेकिन बाबा ने हॉस्पिटल में सब को मना किया था. बाबा करीब 1 हफ्ते एडमिट रहेंगे. इसके बाद उनका स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद डिस्चार्ज कर दिया जाएगा.

अघोरी बाबा की कार भी उनका परिचय देती है. बाबा की कार पर आगे डैशबोर्ड पर कई इंसानी खोपड़ियां हैं. वहीं, पूरी कार पर स्टीकर लगे हैं, जिस पर भगवान शंकर के साथ वे खुद बैठे हैं. बाबा की कार के ग्लासेस पर डेंजर लिखा है. कार पर नंबर प्लेट के स्थान पर नागा साधु लिखा है. वहीं, बोनट की ओर एक त्रिशूल भी है. बोनट पर जो फोटो है, उसमें वे भगवान शंकर की गोद में बैठे हैं. फ्रंट ग्लास पर ऊपर की ओर अर्धनारीश्वर लिखा है.