Sunday, July 21, 2024
चर्चित समाचार

आदिवासी युवाओं को राजनीति मे आगे लाने के लिए चुनाव लड़ेगी राकांपा :धीरज शर्मा

Top Banner

मनीराम सोनी मनेंद्रगढ़                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                              राष्ट्रवादी युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष धीरज शर्मा के अनुसार उनकी पार्टी छत्तीसगढ़ में 20 से 25 सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ने के इरादे से संगठन विस्तार कार्य कर रही है।राकांपा बेरोजगारी के मुद्दे परिवार को साथ लाना चाहती हैं छत्तीसगढ़ की युवाओं को राजनीति मैं अधिक प्रतिनिधित्व नहीं मिला है विशेषकर आदिवासी युवाओं को मुख्यधारा की राजनीति में जगह नहीं दी गई है।राकांपा इस रिक्त स्थान की पूर्ति करने की पूरा प्रयास करेगी यह राज्य के आदिवासी बहुल क्षेत्रों में पार्टी का सदस्य अभियान चलाया जाएगा उन्होंने जानकारी दी कि भाजपा ने बस्तर और सरगुजा में धार्मिक उम्मीद पैदा कर आदिवासी वोटों के ध्रुवीकरण की योजना बनाई है भाजपा आदिवासी की कीमत जमीन उद्योगपतियों के हवाले करना चाहती हैं जिसका खाका डॉ रमन सिंह के मुख्यमंत्री रहते हुए ही तैयार किया जा चुका था अगर भविष्य में भाजपा अपने मंसूबे मैं सफल हो जाती है तू आदिवासियों को अपनी से बेदखल होना पड़ेगा । उन्होंने बताया कि राष्ट्रवादी कांग्रेस भाजपा के धार्मिक उम्मीद के वातावरण के विरुद्ध देशभर में जमीन पर लड़ाई लड़ रही है।राकांपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार धार्मिक सहिष्णुता के लिए कांग्रेस के साथ है छत्तीसगढ़ में भी इस मुद्दे पर कांग्रेस का सहयोग करने का प्रयास किया जाएगा लेकिन यह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर निर्भर करता है कि चुनाव में गठबंधन बनाया जाएगा अथवा नहीं उन्होंने कहा है कि अपने अस्तित्व मजबूत करने के लिए   राकांपा अकेले ही चुनाव लड़ने में सक्षम है. और राज्य में तीसरे बड़े दल के रूप में स्थापित होना चाहती हैं श्री शर्मा ने बताया कि इस समय पूरे देश में बेरोजगारी बड़ा मुद्दा है छत्तीसगढ़ में भी इसे अछूता नहीं है भले ही राज्य में बेरोजगारी दर के आंकड़े देश में सबसे कम हो केंद्र में मोदी सरकार महंगाई का नियंत्रण नहीं रख पा रही है इसमें उद्योग धंधों पर बुरा असर आया है और युवा बेरोजगार हुए हैं।