Friday, July 19, 2024
चर्चित समाचार

कई हिस्सों में न‍िकलेगा गणेश विसर्जन जुलूस

Top Banner

>ईद-ए-मिलाद जुलूस एक द‍िन बाद 29 स‍ितंबर शुक्रवार को न‍िकाला जाएगा

>श‍िंदे सरकार ने 29 सितंबर को अवकाश घोषित करने का निर्णय लिया है

मुंबई, अनंत चतुर्दशी के अवसर पर गणेश विसर्जन और ईद.ए.मिलाद का त्योहार एक ही दिन यानी कल गुरुवार ;28 तारीखद्ध को मनाया जाएगा। ऐसे में एकनाथ श‍िंदे सरकार ने शुक्रवार 29 तारीख को सार्वजनिक अवकाश घोषित करने का फैसला किया है। ताक‍ि पुलिस प्रशासन भीड़ और जुलूस का समुचित प्रबंधन करे। दरअसल पुलिस की अपील पर अलग.अलग मुस्लिम संगठनों ने अनंत चतुर्दशी के मद्देनजर गुरुवार की बजाय शुक्रवार को ईद.ए.मिलाद का जुलूस निकालने का फैसला किया है।अखिल भारतीय खिलाफत कमेटी के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से मुलाकात की थी। इस दौरान सीएम से 29 तारीख को छुट्टी देने का अनुरोध किया था ताकि राज्य में शांति का माहौल रहे और पुलिस भीड़ और जुलूस की योजना बना सके। इस प्रतिनिधिमंडल में सांसद राहुल शेवालेए विधायक अबू आजमीए विधायक रईस खानए नसीम खान आदि शामिल थे।29 सितंबर को अवकाश घोषित अनंत चतुर्दशी के अवसर पर महाराष्‍ट्र के अलग.अलग हिस्सों में गणेश विसर्जन जुलूस और ईद.ए.मिलाद जुलूस आयोजित किए जाते हैं। दोनों त्योहारों के कारण एक ही दिन निकलने वाले जुलूसों के कारण पुलिस व्यवस्था पर तनाव की संभावना को ध्यान में रखते हुए 29 सितंबर को अवकाश घोषित करने का निर्णय लिया गया है। गणेश विसर्जन जुलूस अनुशासित और शांतिपूर्ण ढंग से निकाले जाएं अनंत चतुर्दशी के अवसर पर हम गणपत‍ि बप्‍पा को विदाई देते हैं। मुख्यमंत्री ने राज्य के गणेश भक्तों से भी अपील की है कि वे हमेशा की तरह विसर्जन जुलूस में अनुशासन का पालन करें और शांति और सद्भाव के माहौल में गणेश विसर्जन करें। भगवान गणेश के आगमन से पिछले दस दिनों से हर्षोल्लास का माहौल बना हुआ है। आने वाले समय में ईद के साथ.साथ नवरात्रिए दशहरा और दिवाली जैसे त्योहार भी हैं। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सभी लोग इन त्योहारों को एकता और भक्ति के साथ मनाएं और राज्य की परंपराओं को उज्जवल बनाएं।कानून.व्यवस्था बनाए रखें मुख्यमंत्री ने इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि पुलिस ने गणेशोत्सव के दौरान पूरे राज्य में कानून.व्यवस्था बनाए रखने का ध्यान रखा और गणेश मंडलों ने नियमों का पालन करते हुए इस पसंदीदा त्योहार को खुशी के साथ मनाया। त्योहार मनाते समय हम स्वच्छता के महत्व को नजरअंदाज नहीं कर सकते। हमने स्वच्छ महाराष्ट्र का अभियान उठाया है। एक अक्टूबर को हम अपने गांवों और वार्डों को कचरा मुक्त बनाने जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने गणेश मंडलों से भी अपील की है कि वे विसर्जन के बाद आसपास के वातावरण को साफ.सुथरा रखने में प्रशासन की मदद करें और एक अच्छा संदेश दें