Sunday, July 14, 2024
जौनपुर

कमलेश जी का निधन,शोक की लहर व्याप्त

Top Banner

जौनपुर

बंशीधर राष्ट्रीय पाठशाला (बी0आर0पी0 इंटर कॉलेज जौनपुर। के पूर्व अध्यापक (संस्कृत)श्री कमलेश चंद्र श्रीवास्तव का कल दिनाक 21:11;2022 को रात्रि 11:30 बजे निधन हो गया ,वो एक लंबे अरसे से बीमार चल रहे थे।उनके निधन से परिवार दुखी है।स्वर्गीय कमलेश चंद्र अपने पीछे अपनी पत्नी श्रीमती शशी श्रीवास्तवा व एक बेटी कुमारी ईशा श्रीवास्तवा को छोड़ गए है। आज सुबह मणिकर्णिका घाट पर उनके भतीजे श्री शुभम श्रीवास्तवा पुत्र स्वर्गीय राजेश चन्द्र श्रीवास्तवा ने मुखाग्नि देकर अंतिम संस्कार किया।

ज्ञातव्य हो कि स्वर्गीय कमलेश चंद्र श्रीवास्तवा अपने गांव के कलामंच नाट्य समिति सोंधी के उत्कृष्ट कलाकार के रूप में भी अपनी पहचान भी बनाई थी।जिसके माध्यम से प्रदेश स्तर पर भरत मंच द्वारा आयोजित नाट्य मंच पर लगातार तीन वर्षों तक विशेष कलाकार के रूप में अपना दबदबा कायम रखा। रामजानकी सोंधी रामलीला समिति के सीनियर कलाकार के रूप में उनकी पहचान थी।उनके बारे में कहा जाता है कि नारद मुनी का रोल उनके जैसा कोई ना कर सका। रामजानकी सोंधी के कलाकारों द्वारा भी स्वर्गीय कमलेश चन्द्र श्रीवास्तवा को सादर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।उनके ग्राम सोंधी में शोक की लहर व्याप्त है। राम जानकी सोंधी रामलीला समिति के अध्यक्छ श्री सुरेन्द्र नाथ श्रीवास्तवा ने नम आंखों से कहा अब हम कलाकारों की एक पीढ़ी खो चुके हैं स्वर्गीय कमलेश को भूलना आसान ना होगा।अब कलाकारों से बिछुड़ना असहनीय होता है।ईश्वर उनके परिवार को सहन शक्ति दे। तरूषा फाउंडेशन परिवार जौनपुर की ओर से स्वर्गीय कमलेश चंद्र को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई।
तरूषा फाउंडेशन अध्यक्छ विजय शंकर श्रीवास्तवा ने कहा वो मेरे चाचा ही नही वो मेरे गुरु भी थे अब हम सच मे अनाथ हो गए ना पिताश्री न कोई चाचा श्री
डॉक्टर विमल श्रीवास्तव (लेक्चरर-कमेस्ट्री)
ने कहा अब हम सभी भाई अजय,विजय,मैं(विमल)विशाल,शिवम,शुभम,रूपेश ,रत्नेश,सोनू अपने पूर्वजों की परिपाटी और संस्कार को समर्पित रहेंगे।हम हमेशा एक सूत्र में बधे रहे यही बड़ों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
हिंदी दैनिक हकीकत एक्सप्रेस परिवार की ओर से स्वर्गीय कमलेश चंद्र श्रीवास्तवा को भावभीनी श्रद्धांजलि ,ईश्वर उनके परिवार को सहन शक्ति दे।