Sunday, July 21, 2024
अपराध

कोरोना ड्यूटी से परेशान शिक्षक, कर ली खुदकुशी

Top Banner

राजस्‍थान के सिरोही में एक शिक्षक ने फांसी लगाकर खुदकुशी  कर ली. पुलिस के मुताबिक घटनास्थल से शिक्षक द्वारा लिखा एक नोट मिला है. कहा जा रहा है कि सुसाइड नोट में 15 जून को बेटे की शादी और तैयारी के लिए समय नहीं मिलने की बात शिक्षक ने लिखी है. यह घटना सिरोही के मंडार थाना क्षेत्र के अमरपुरा गांव के एक  फार्म हाऊस की है. फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पीएम के बाद परिजनों को शव सौंप दिया जाएगा. मामले की जांच में पुलिस जुट गई है. दरअसल, केसुआ निवासी एक अध्यापक द्वारा फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी करने का मामला सामने आया है. हालांकि मृतक के दामाद ने शिक्षक की मौत पर संदेह जताते हुए मंडार पुलिस से जांच की मांग की. दमाद ने सुसाइड नोट में हेंड राइटिंग नहीं मिलने और तीन अलग-अलग साइन होने का आरोप लगाया.

पुलिस ने कही ये बात

इस पूरे मामले में रेवदर डिप्टी फाऊलाल मीणा ने बताया कि मृतक भीमाराम ने आत्महत्या करने से पूर्व एक सुसाइट नोट लिखा था. इसमें उसने बताया कि वो रायपुर की सीनियर हायर सेकेंडरी स्कूल में अध्यापक के पद पर कार्यरत था. उसकी कोरोना महामारी में ड्यूटी लगी हुई थी. वहीं 15 जून को उसके बेटे की शादी भी तय थी, लेकिन कोरोना ड्यूटी के चलते वो अपने घर परिवार को समय नहीं दे पा रहा था. इसके चलते उसने यह कदम उठाया है.बताया जा रहा है कि मृतक अध्यापक भीमाराम ने मरने से पहले अपने पूरे परिवार को फार्म हाउस से घर भेजा था. उसके बाद उसने कमरे में लगे पंखे के हुक में रस्सी से फंदा लगाया और झूल गया. जैसे ही घटना की सूचना मिली रेवदर डिप्टी फाऊलाल मीणा मंडार थाना अधिकारी भंवरलाल जाप्ते के साथ मौके पर पहुंचे. कार्रवाई करते हुए पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मंडार सीएचसी की मोर्चरी में रखवाया है. शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंपा जाएगा.