Monday, July 22, 2024
राजनीति

गठबंधन की लड़ाई का अखाड़ा बनेगी मुंबई

Top Banner

मुंबई । विपक्षी गठबंधन इंडिया की 31 अगस्त और एक सितंबर को मुंबई में अहम बैठक होनी है। खास बात ये है कि एक सितंबर को मुंबई में ही सत्ताधारी गठबंधन एनडीए की भी बैठक होने जा रही है। विपक्षी गठबंधन की बैठक में चुनाव की रणनीति और सीटों के बंटवारे पर चर्चा हो सकती है। साथ ही विपक्षी गठबंधन अपना नया लोगो भी लॉन्च कर सकता है। गौरतलब है कि इससे पहले भी विपक्षी गठबंधन और एनडीए की बैठक एक ही दिन हुई थी। हालांकि विपक्ष जहां बंगलुरू में मिला, वहीं एनडीए के नेता राजधानी दिल्ली में एकजुट हुए। इस बार दोनों गठबंधन की बैठक एक दिन होने के साथ ही एक ही शहर में भी हो रही है।
विपक्षी गठबंधन की बैठक में एनसीपी मुखिया शरद पवार भी शामिल होंगे। वहीं उनके भतीजे अजित पवार का गुट भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए की बैठक में शामिल होगा। एनसीपी सांसद (अजित गुट) सुनील तटकरे ने बताया कि सत्ताधारी गठबंधन की बैठक में भाजपा के साथ ही गठबंधन की सहयोगी पार्टियां शिवसेना (एकनाथ शिंदे) और एनसीपी (अजित पवार गुट) भी शामिल होंगी। विपक्षी गठबंधन की मुंबई बैठक के दिन ही एनडीए की बैठक होने पर सुनील तटकरे ने कहा कि हमारी बैठक बीते विधानसभा सत्र से पहले ही तय थी। ऐसे में ये बात करने का कोई मतलब नहीं है कि हम भी उस दिन बैठक कर रहे हैं, जब विपक्षी गठबंधन की बैठक हो रही है। कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने बताया कि विपक्षी गठबंधन इंडिया की बैठक में 26-27 विपक्षी पार्टियां शामिल होंगी। विपक्षी गठबंधन की 31 अगस्त की शाम अनौपचारिक बैठक होगी, वहीं एक सितंबर को औपचारिक बैठक होगी। इस बैठक में विपक्षी गठबंधन के नए लोगो को भी लॉन्च किया जा सकता है। इस बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा होगी। विपक्षी गठबंधन की बैठक पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मुंबई की बैठक में गठबंधन का विस्तार हो सकता है और इसमें कुछ और क्षेत्रीय पार्टियां भी शामिल हो सकती हैं। इस बैठक में सीटों के बंटवारें जैसे एजेंडे पर बात सकती है। नीतीश कुमार ने कहा कि वह 2024 के लोकसभा चुनाव में ज्यादा से ज्यादा विपक्षी पार्टियों को जोडऩा चाहते हैं और इसी दिशा में काम कर रहे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने साफ किया कि विपक्षी गठबंधन की तरफ से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार का एलान लोकसभा चुनाव के बाद किया जाएगा। चुने गए सांसद प्रधानमंत्री का चुनाव करेंगे। बता दें कि विपक्षी गठबंधन इंडिया में 26 विपक्षी पार्टियां शामिल हैं, जिनमें कांग्रेस भी है। वहीं सत्ताधारी गठबंधन एनडीए का नेतृत्व भाजपा कर रही है। विपक्षी गठबंधन की मुंबई बैठक से पहले दो बैठकें हो चुकी हैं। इनमें से पहली बैठक 23 जून को पटना में हुई थी। वहीं दूसरी बैठक 17-18 जुलाई को बंगलुरू में हुई थी। अब विपक्षी गठबंधन की तीसरी और अहम बैठक 31 अगस्त और एक सितंबर को मुंबई में होने जा रही है।