Sunday, July 14, 2024
जौनपुर

जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में किसान दिवस का आयोजन

Top Banner

जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में   जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में किसान दिवस का आयोजन किया गया। किसान दिवस में जिलाधिकारी के द्वारा किसानों की समस्या को सुनते हुए संबंधित अधिकारी को 01 सप्ताह के भीतर निस्तारण कर आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
किसानों के द्वारा जिलाधिकारी के समक्ष नहरों के माध्यम से खेत तक पानी न पहुंचने की समस्या से अवगत कराया जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंत सिंचाई को निर्देशित किया कि मौके पर जाकर देखें और ऐसे लोगों के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कराएं जिनकी वजह से पानी खेत तक नहीं पहुंच रहा है।
किसानों ने जिलाधिकारी को खाद की समस्या से अवगत कराया जिस पर एआर कोआपरेटिव को निर्देशित किया कि पर्याप्त मात्रा में किसानों को खाद समय से उपलब्ध कराई जाए। किसानों ने लो वोल्टेज की समस्या से अवगत कराया जिस पर अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देशित किया कि तत्काल समस्या का निस्तारण कराया जाए।
जिलाधिकारी ने किसानों से अपील किया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत लाभार्थियों के भूलेख सत्यापन का कार्य सभी तहसीलों में चल रहा है, अभी तक 70 प्रतिशत किसानों के द्वारा भूलेख का सत्यापन कर लिया गया है लेकिन अभी भी 30 प्रतिशत किसान अपने भूलेख का सत्यापन संबंधित लेखपाल से नहीं कराएं है। उन्होंने बताया कि यदि 30 सितंबर 2022 तक सत्यापन नहीं कराते हैं तो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की 12वीं किस्त नहीं जा पाएगी। जनपद में इस योजना के अंतर्गत कुल 753158 लाभार्थी हैं, जिसमें से अभी तक 560000 ही लाभार्थियों का सत्यापन होकर पोर्टल पर अपलोड हुआ है।
जिलाधिकारी ने उप कृषि निदेशक को स्पष्ट रूप से निर्देश दिया कि किसानों को बीज की सब्सिडी उपलब्ध कराई जाए और सरकार के द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ दिलाया जाए, कहीं से कोई शिकायत न आने पाए।
इस अवसर पर उप कृषि निदेशक जयप्रकाश, जिला कृषि अधिकारी के0के0 सिंह, अपर जिला कृषि अधिकारी डॉ0 रमेश चंद्र यादव, अग्रणी बैंक प्रबंधक उमाशंकर, जिला उद्यान अधिकारी ममता यादव, अधिशासी अभियंता विद्युत ए0के0 सिंह सहित सभी जनपद स्तरीय अधिकारीगण एवं किसान नेता राजनाथ यादव, राजबली यादव सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित रहे। किया गया। किसान दिवस में जिलाधिकारी के द्वारा किसानों की समस्या को सुनते हुए संबंधित अधिकारी को 01 सप्ताह के भीतर निस्तारण कर आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
किसानों के द्वारा जिलाधिकारी के समक्ष नहरों के माध्यम से खेत तक पानी न पहुंचने की समस्या से अवगत कराया जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंत सिंचाई को निर्देशित किया कि मौके पर जाकर देखें और ऐसे लोगों के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कराएं जिनकी वजह से पानी खेत तक नहीं पहुंच रहा है।
किसानों ने जिलाधिकारी को खाद की समस्या से अवगत कराया जिस पर एआर कोआपरेटिव को निर्देशित किया कि पर्याप्त मात्रा में किसानों को खाद समय से उपलब्ध कराई जाए। किसानों ने लो वोल्टेज की समस्या से अवगत कराया जिस पर अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देशित किया कि तत्काल समस्या का निस्तारण कराया जाए।
जिलाधिकारी ने किसानों से अपील किया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत लाभार्थियों के भूलेख सत्यापन का कार्य सभी तहसीलों में चल रहा है, अभी तक 70 प्रतिशत किसानों के द्वारा भूलेख का सत्यापन कर लिया गया है लेकिन अभी भी 30 प्रतिशत किसान अपने भूलेख का सत्यापन संबंधित लेखपाल से नहीं कराएं है। उन्होंने बताया कि यदि 30 सितंबर 2022 तक सत्यापन नहीं कराते हैं तो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की 12वीं किस्त नहीं जा पाएगी। जनपद में इस योजना के अंतर्गत कुल 753158 लाभार्थी हैं, जिसमें से अभी तक 560000 ही लाभार्थियों का सत्यापन होकर पोर्टल पर अपलोड हुआ है।
जिलाधिकारी ने उप कृषि निदेशक को स्पष्ट रूप से निर्देश दिया कि किसानों को बीज की सब्सिडी उपलब्ध कराई जाए और सरकार के द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ दिलाया जाए, कहीं से कोई शिकायत न आने पाए।
इस अवसर पर उप कृषि निदेशक जयप्रकाश, जिला कृषि अधिकारी के0के0 सिंह, अपर जिला कृषि अधिकारी डॉ0 रमेश चंद्र यादव, अग्रणी बैंक प्रबंधक उमाशंकर, जिला उद्यान अधिकारी ममता यादव, अधिशासी अभियंता विद्युत ए0के0 सिंह सहित सभी जनपद स्तरीय अधिकारीगण एवं किसान नेता राजनाथ यादव, राजबली यादव सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित रहे।