Saturday, July 13, 2024
जौनपुरभ्रष्टाचार

जौनपुर- मनरेगा मजदूरों के पेट पर लात मारता ग्राम प्रधान अशोक मिश्रा

Top Banner

ग्राम प्रधान अशोक मिश्रा इतने मनबढ एवं दबंग है कि जे.सी.बी. से मनरेगा का कराये जा रहे कार्य का ब्हिडियो बनाने वाले समाचार पत्र प्रतिनिधी के साथ अभद्रता करते हुए यह स्पष्ट किया कि खनन पर रोक लगने के बावजूद खुलेआम खनन कराने के लिए 15हजार रूपये थाना स्थानीय पर देते है ।

जौनपुर. आज सरकार मजदूरो के हित की चाहे जितनी योजनाए बनाले मगर सरकार की समस्त योजनाए महज हवा हवाई बनकर रह जाती है । इसका मूल कारण है देश मे प्रजातंत्र होने के बावजूद उच्च कुर्सियो पर बैठे जिले के आला अधिकारी से लेकर ब्लाक स्तर के अधिकारी एवं कर्मचारी महज स्वहित के लिए सरकार की समस्त जनहित कारी योजनाओ को कागज पर पूर्ण करेदते है अथवा मनमाने तरीके से हुए कार्य का भुगतान करानेते है जिसमे उनका एक निश्चित कमीशन तय होता है। जिसका जीता जागता प्रमाण है विकास खण्ड रामपुर अंतर्गत ग्राम विकास खण्ड ब्लॉक रामपुर अन्तर्गत ग्राम पंचायत राईपुर में ग्राम प्रधान द्वारा तालाब की सफाई/खुदाई का काम करवा रहे है परंतु ग्राम प्रधान अशोक मिश्रा द्वारा ग्राम सभा के मजदूरो से काम कराना मुनासिब नही समझा इसलिए उन्होने मनरेगा मानक कि धज्जियां उड़ाते हुए पूरा काम जे.सी.बी. मशीन से करवा रहे है और इससे भी बडज्ञ उनकी दबंगता का सबुत है कि नियमानुसार जिस तालाब की मिट्टी को खुदाई करने के उपरांत तालाब के चारो तरफ रखकर मेड़ा बनाने का प्राविधान है वही ग्राम प्रधान उपरोक्त द्वारा जे.सी.बी. से खुदाई कि गयी मिट्टी को बाहर भेजा जा रहा है मिली जानकारी के अनुसार ग्राम प्रधान के पास अपना ईट भट्ठा है उस मिट्टी को अपने ईट भट्ठे पर ईट बनाने के काम मे लेने हेतु भेजवा रहे है। अब पहला सवाल यह है कि क्या इस बात कि जानकारी ब्लाक के स्थानीय अधिकारी एवं कर्मचारी को है अथवा नही ? क्या इस बात की जानकारी स्थानीय लेखपाल को है अथवा नही ? अगर है तो उन्होने क्या कार्यवाही किया ? और अगर नही है तो इसका मतलब वे अपने क्षेत्र से पूरी तरह लापरवाह है। अब दूसरा सवाल यह है कि जे.सी.बी. मशीन से खुदाई किया गया तालाब का भुगतान किस आधार पर किया अथवा कराया जाएगा? यह एक अहम सवाल है जिसका जबाब ब्लाक से लेकर जिले स्तर के समस्त अधिकारियो को देना होगा।