Sunday, July 21, 2024
जौनपुर

थाना लाइन बाजार की बे लगाम और घूसखोर पुलिस पैसे के दम पर किसी को भी कर सकती है अनिश्चितकालीन तक थाने में बंद

Top Banner

जौनपुर , बिना अपने मरे कोई स्वर्ग नहीं देखता ! कल तक जौनपुर पुलिस कि वाह वाही करने वाले परिवार जब खुद उनकी रिश्वत खोरी के शिकार  होते है तब उनको पुलिस कि असलियत पता चलती है घटना इस प्रकार है दिनांक 18 -11-2020 समय रात्रि 9:00 बजे कुमार गौरव साहू पुत्र दया शंकर साहू  (आपसी रिश्तेदार पड़ोसी और चचेरे भाई )महेश कुमार गुप्ता पुत्र कृष्ण कुमार गुप्ता ने  आपसी विवाद होता है महेश को गिर जाने से चोट आ जाती है मामूली ड्रेसिंग पश्चात महेश वापस घर आ जाता है और चुपचाप अपने ही घर में छुप जाता है ,और लाइन बाजार थाने की पुलिस के साथ मिलकर, पैसे खर्च करके ,खेलता है खेल लाइन बाजार से पैसे का भूखा एक एसआई और दो पुलिस कर्मियों की मिलीभगत से शुरू होता है पुलिसिया ड्रामा 18-11- 2020 रात्रि 9:30 बजे लाइन बाजार पुलिस उठा ले जाती है कुमार गौरव साहू को और बंद कर देती है लाइन बाजार थाने में 19 111 2020 रात्रि 8:30 बजे कुमार गौरव साहू के पिता श्री श्री दया शंकर साहू लाइन बाजार थाना अपने पुत्र के लिए लेकर जाते हैं खाने का टिफिन और चाहते हैं थानाध्यक्ष से मिलकर जानकारी करना कि आखिर क्यों मेरे पुत्र को बिठाया गया है थाने पर जबकि 24 घंटे हो गए परंतु ना ही चालान किया गया ना ही एफ आई आर दर्ज किया गया, परंतु वहां दयाशंकर अपने पोते के साथ रात्रि 8:30 बजे से 9:30 बजे तक थाने पर बैठे रहे और उपस्थित पुलिस जन ने कहा कि साहब सुबह मिलेंगे जिसकी वजह से उनकी मुलाकात थाना अध्यक्छ महोदय से नहीं हो पाती है और अभी  दस बजे रात्रि वह घर आते हैं और  रात्रि 11:30 बजे के लगभग पुलिस अपने दल बल के साथ पहुंचती है और घर में घुसकर श्री दया शंकर साहू को उठा ले जाती है और पहले से बंद पुत्र के साथ पिता  को भी  बंद कर देती है जबकि महेश को न तो गहरी कि चोट आई है ना ही उसका कोई मारपीट हुआ था  बल्कि महेश और उसके पिता ने मिलकर कुमार गौरव (गोविंद) की ही पिटाई किया था।  सूत्र बताते है कि सुबह 8 बजे तक इस तरह के किसी घटना की जानकारी लाइन बाजार थाना इंचार्ज को नही होती है और घूस खोर पुलिसकर्मियों का खेल इस आई के साथ मिलकर  चलता रहता है ,आज ही नही हमेशा ही।कृपया तत्काल जांच करें और कुमार गौरव साहू और उसके पुत्र के साथ न्याय करें।