Sunday, July 21, 2024
अपराध

बहनोई ही निकला साले का हत्यारा

Top Banner

नरसिंहपुर नरसिंहपुर जिला मुख्यालय से लगे वैसा पाला गांव में एक किसान विनायक की गोली मारकर की गई हत्या के चलते सनसनी का माहौल बन गया है गांव के रहने वाले किसान शिवराज पटेल रोज की तरह जब अपने खेत गए तो वापस नहीं लौटे घर में पिता ने जब शिवराज पटेल के मोबाइल पर फोन किया तो शिवराज का फोन स्विच ऑफ आ रहा था रात होने से सुबह का किसी तरह से इंतजार किया गया परिवार के लोगों ने सोचा शायद खेत पर ही रुक गए होंगे परंतु जब सुबह जाकर देखा तो शिवराज चीत अवस्था में खेत पर ही पड़े मिले किसी ने उनके आंख और नाक के बीच गोली मारी थी मौके पर कोई संघर्ष के निशान भी नहीं था पर वहां पर पड़ी शराब की बोतल और मांसाहारी खान-पान इस बात का संकेत जरूर कर रहा था कि कुछ पहले से ही प्लान किया गया होगा

प्रथम दृष्टा पुलिस ने इसे हत्या का मामला मानकर अपराध क्रमांक 561 / 2020 धारा 302 मामला दर्ज किया है और जबलपुर से डॉग स्कॉट एवं एफएसएल टीम ने भी अपनी जांच शुरू की है वहीं पूरे मामले पर मृतक शिवराज के चाचा ने किसी रंजीस से इनकार किया है उनका कहना है कि मेरा भतीजा शिवराज व हमारे परिवार की किसी से कोई दुश्मनी नहीं है फिर ऐसा क्यों हुआ पुलिस ने अपनी जांच का दायरा आगे बढ़ाया पुलिस अधीक्षक अजय सिंह अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश तिवारी एसडीओपी अर्जुन विकी के मार्गदर्शन में परिविक्षाधीन उप पुलिस अधीक्षक शशांक गुर्जर एवं आकाश अमल कर थाना प्रभारी स्टेशन गंज महेश सोनिया मुनि पियूष साहू उपनिरीक्षक चंदन हुई कि निलेश बड़कुल विश्राम धुर्वे सहायक उपनिरीक्षक संजय सूर्यवंशी संतोष ठाकुर प्रधान आरक्षक रमेश राजेश निलेश आरक्षक संजय नीरज सुनील सचिन लक्ष्मी नागपुरी शुभम सलमान देवेंद्र संतराम महिला आरक्षक नेहा यादव साइबर सेल आरक्षक अभिषेक सूर्यवंशी संजय ठाकुर धारा सिंह सहित कुल आठ लोगों की टीम गठित की गई जिसमें ग्राम सहित नजदीकी गांव में ढाई सौ लोगों से पूछताछ की गई जांच में पाया गया कि मृतक की ग्राम भैंसा में करीब 20 एकड़ कृषि भूमि है जिसका वह अकेला मालिक है मृतक की एक बहन है जिसका विवाह नवल गांव के प्रदीप पटेल से हुआ था प्रदीप पटेल रोजगार सहायक के पद पर कार्यरत था एक गमन के मामले में वह अपनी नौकरी गंवा चुका था और जानकारी के अनुसार प्रदीप शराब जुआ सभी आदतों का आदी हो चुका था जिसके कारण उसके ऊपर काफी अधिक कर्ज हो चुका था जिसकी वजह से प्रदीप काफी तनाव में रहता था और उसने योजनाबद्ध तरीके से मृतक विनय की करोड़ों की जायदाद हड़पने की नीयत से प्लानिंग बनाई और मित्र पवन सेन के साथ मिलकर हत्या को अंजाम दिया पवन को 2000000 रुपए का लालच देकर हत्या कराना स्वीकार किया हत्या में प्रयुक्त अवैध देसी कट्टा दो जिंदा कारतूस सहित आज पुलिस ने प्रदीप पटेल पवन सिंह को गिरफ्तार करते हुए कोर्ट में पेश किया है बता दें कि इस अंधी हत्याकांड के प्रकरण में पुलिस उपमहानिरीक्षक छिंदवाड़ा रेंज अनिल माहेश्वरी द्वारा 20,000 का नगद पुरस्कार इन 8 पुलिस कर्मचारियों को देने की घोषणा की है