Friday, July 19, 2024
जौनपुर

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने प्रभावित ग्राम का किया निरीक्षण

Top Banner

जनपद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मछलीशहर के ग्राम भटहर के दीनापुर वनवासी बस्ती में 2 दिन के भीतर चार बच्चों की मौत तथा 13 से अधिक बच्चों के बीमार होने की सूचना पर स्वास्थ्य विभाग की क्रमश सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मछली शहर की टीम तथा जनपद स्तर से मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निर्देश में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी तथा चिकित्सा अधिकारी की टीमों ने भ्रमण किया। बीमारी के कारणों का पता लगाया तथा त्वरित निरोधात्मक कार्यवाही कराया। रोगियों के उपचार की समुचित व्यवस्था की गई। जिन्हें एंबुलेंस सेवा की आवश्यकता थीए उन्हें एंबुलेंस सेवा उपलब्ध कराकर जनपद चिकित्सालय में पहुंचाया गया। 21 अगस्त 2023 को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की टीमए अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रतिरक्षण एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने प्रभावित ग्राम का निरीक्षण किया। बीमारी के कारणों का पता लगाने के लिए आवश्यक जांच जैसे डेंगूए मलेरियाए चेचकए टाइफाइडए पीलिया आदि का जांच करने के लिए सैंपल एकत्रित किया गया। अन्य कारणों का पता लगाने पर ज्ञात हुआ कि ग्राम में पेय जल के लिए इंडिया मार्का हैंडपंप.2 की व्यवस्था है। हैंडपंप के नीचे प्लेटफार्म नहीं बना है एवं जो पानी गिर रहा है वह रिस कर बोर के पाइप के साथ नीचे जा रहा है तथा री.साइकिल होकर पुनः पेयजल के रूप में प्रयोग हो रहा है। हैंड पंप के प्लेटफार्म का मरम्मत कराया जाना आवश्यक है। मौके पर उपलब्ध स्वास्थ्य टीम को कड़े निर्देश दिए गए हैं कि ग्राम वासियों को क्लोरीन की टेबलेटए ओआरएस पैकेट एवं अन्य आवश्यक दवाइयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराई जाए। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पीने वाले जल में क्लोरीन के टेबलेट के उपयोग की विधि से उन्हें अच्छी तरह से प्रशिक्षित किया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर लक्ष्मी सिंह ने अधीक्षक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मछली शहर को निर्देशित किया है कि आगामी एक सप्ताह तक प्रत्येक दिवस स्वास्थ्य टीम प्रभावित ग्राम का दौरा करेगीए कैंप करेगी एवं दिन प्रतिदिन की स्थिति से मुझे अवगत कराएगी। यदि आवश्यक हुआ तो जब तक स्थिति सामान्य नहीं होती 1 सप्ताह के बाद भी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की आरआरटी टीम प्रभावित ग्राम का भ्रमण करेगी एवं स्थिति सामान्य होने के उपरांत ही टीम वहां जाना बंद करेगी। समस्त ग्राम वासियों से अपील है कि वह शुद्ध पेयजल का प्रयोग करें तथा स्वास्थ्य टीम को उसकी कार्यवाही में सहयोग करें तथा अपनी समस्याओं से उनको अवगत कराएं।