Sunday, July 21, 2024
अपराध

रंगीन मिजाजी खंड शिक्षा अधिकारी का महिलाओं ने चप्पलों से किया स्वागत

Top Banner

सतना , बच्चों को संस्कार और शिक्षा सिखाने वाले मास्टर के ऊपर काबू रखने वाले शिक्षा अधिकारी को इश्क लड़ाना भारी पड़ गया दफ्तर में बैठकर रंगीन मिजाज में महिलाओं से उल्टी सीधी बात करने पर श्रीमान खंड शिक्षा अधिकारी साहब को महिलाओं ने चप्पलों से सबक सिखा दिया है साहब की चप्पलों से ऐसी खातिर हुई कि शायद वह पूरे जीवन किसी को अपने साथ हुए इस वाक्य को बताने की जहमत नहीं उठाएंगे क्योंकि वह बताने के लायक ही नहीं रह गए प्राप्त जानकारी के अनुसार सतना जिले के मैहर में विकास खंड शिक्षा अधिकारी की कुर्सी पर पदस्थ कमला प्रसाद वर्मा को महिलाओं की खूबसूरत चप्पले पड़ी है उनकी विशेष किस्म की यह खातिर कहीं और नहीं बल्कि उन्हीं के कार्यालय में हुई है जहां पर बैठकर वह सब पर रौब झाड़ते रहे है , खंड शिक्षा अधिकारी साहब को उन्हीं के कार्यालय में कार्यरत 2 महिलाओं ने ही चप्पलों से सरेआम धुनाई की है प्रत्यक्षदर्शी बताते हैं कि दोनों महिलाओं ने खंड शिक्षा अधिकारी महोदय को पीटते पीटते उनके कार्यालय से बाहर घसीट के ले जाने के बाद लोगों ने खंड शिक्षा अधिकारी को पीटते देखा तो उनके समझ में नहीं आ रहा था कि क्या हंगामा हो रहा है जबकि कार्यालय के सभी कर्मचारी खंड शिक्षा अधिकारी महोदय के पीटने का लाइव तमाशा भीड़ के रूप में देख कर खूब प्रसन्न हो रहे थे जिससे कार्यालय के सामने काफी भीड़ लग गई थी महिलाओं द्वारा बताया गया कि खंड शिक्षा अधिकारी महोदय काफी दिनों से महिलाओं के साथ अभद्रता भरे शब्दों का प्रयोग करते एवं उल्टी सीधी बात कर परेशान किया करते थे महिलाओं से अश्लील बातें करते थे तथा अपनी बीवी की बीमारी का हवाला देकर कहते थे कि कार्यालय की महिलाएं उनका भी ख्याल रखें महिलाओं ने सोमवार को इसकी शिकायत मैहर थाने में भी की थी लेकिन पुलिस की तरफ से कोई कार्यवाही नहीं हुई और इस बीच अपनी आदत के अनुसार खंड शिक्षा अधिकारी महोदय विगत मंगलवार को दफ्तर खुलने के बाद महिलाओं के साथ फिर अश्लील हरकत करने लगे बताया गया कि आज जब इन्हीं 2 महिलाओं में से एक बाथरूम में गई थी तो खंड शिक्षा अधिकारी महोदय उसके पीछे पीछे वहां तक पहुंच गई बस फिर क्या था दोनों महिलाओं ने चप्पल हाथ में लिया और चंडी का रूप धर खंड शिक्षा अधिकारी महोदय की रंगीन मिजाजी को अच्छी तरह इलाज की इस तरह इलाज किया कि उनको रंगीन मिजाजी का बुखार हरदम के लिए उतर गया