Sunday, July 21, 2024
उत्तर प्रदेशप्रतापगढ़

वन विभाग व पुलिस की मिलीभगत से काटे जा रहे दर्जनों पेड़

Top Banner

रानीगंज क्षेत्र में हरे भरे वृक्षों की कटान जोरों पर

शिकायत के बाद भी नहीं होती कार्यवाही वन विभाग की मेहरबानी से ठेकेदारों के हौसले बुलंद

विकासखंड शिवगढ़ के मऊ रामपुर आधार गंज गांव में काटा जा रहा दर्जनों पेड़

प्रतापगढ़

सरकार एक और कहती है पेड़ लगाओ पेड़ बचाओ लेकिन यहां तो सरकार के मानक का उल्टा ही उपयोग हो रहा है हरे भरे पेड़ को काटकर सरकार के उद्देश्यों का मजाक बनाया जा रहा है और शिकायत के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की जाती है ऐसा ही कुछ मामला रानीगंज के वन रेंज के अंतर्गत वन कर्मियों का है वह पेड़ों की कटाई के लिए इस तरह उतारू हो गए हैं कि जैसे ठेकेदारों के हाथ में हरे पेड़ों की कटाई का टेंडर दे दिया गया हो इसी तरह एक मामला विकासखंड शिवगढ़ के मऊ रामपुर आधार गंज में हरे भरे आम के दर्जनों पेड़ काटे जा रहे हैं कार्यवाही ना किए जाने से ठेकेदारों के हौसले बुलंद हैं जिसको लेकर आम जनमानस में चर्चाओं का बाजार गर्म है कि क्या वन विभाग रानीगंज क्षेत्र को रेगिस्तान बनाने का जिम्मा उठा लिया है शिकायत के नाम पर क्षेत्रीय वन कर्मी जांच करने का पल्ला झाड़ कर बगल हो जाते हैं इस संबंध में वन क्षेत्राधिकारी रानीगंज अनिल शुक्ला से बात की गई तो उन्होंने कहा कि जांच कर कार्यवाही की जाएगी। आपको बता दें पेड़ लगवाने के लिए हर साल अरबों रुपए पानी की तरह बहाया जाता है आखिर किस ओर ले जाना चाहते हैं पर्यावरण के भविष्य को अगर ऐसा ही चलता रहा तो एक दिन ऐसा आएगा की कही पर भी एक भी जगह पेड़ बच नहीं पाएंगे और सरकारी योजनाएं धरी की धरी रह जाएंगी इसी तरह पेड़ों की कटाई अंधाधुन होती रहेगी तो मानव जीवन संकट में आ जाएगा और एक स्वच्छ वातावरण कभी भी स्थापित नहीं हो पाएगा आखिर कब सुधरेंगे इस तरह के लोग कब होगे इन पर कारवाई या कार्रवाई के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति होती रहेगी !