Sunday, July 21, 2024
अपराध

कातिल, कत्ल के बाद साधू के भेष में काट रहा था फरारी, सोनीपत में 23 साल बाद गिरफ्तार हुआ

Top Banner

हरियाणा में गन्नौर क्राइम यूनिट ने कत्ल के केस में फरार कातिल को 23 साल बाद गिरफ्तार किया है। आरोपी ने साल 1997 में अपनी युवती की हत्या की थी। साल 2000 में आरोपी फरार हो गया था। गांव पिनाना में हुई महिला की हत्या करने के बाद कातिल पैरोल लेकर फरार हो गया था। गिरफ्तार आरोपी गांव पिनाना निवासी चेतराम उर्फ चेतू है। आरोपी की गिरफ्तारी पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था। आरोपी साधू बाबा बनकर रह रहा था। सोनीपत के गांव पिनाना में सितंबर, 1997 में केला की हत्या की गई थी।

फरार कातिल को 23 साल बाद गिरफ्तार

केला के ससुर दुलीचंद ने पुलिस को बताया कि उसका बेटा राजेंद्र बीएसएफ में है। बेटे की शादी गांव जागसी की केला के साथ 10 साल पहले हुई थी। घटना के दिन केला अपने ससुर के साथ खेत में पशुचारा लेने गई थी। खेत से लौटते समय उनकी धारदार हथियार से हत्या कर शव को गन्ने के खेत में फेंक दिया था। मामले में दुलीचंद के बयान पर मुकदमा दर्ज हुआ था। जिसमें पुलिस ने आरोपी चेतराम उर्फ चेतू को गिरफ्तार किया था। जिसने रंजिश में वारदात को अंजाम देना कबूल किया था। हत्या के इस केस में अदालत ने चेतराम को उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

कत्ल के बाद साधू के भेष में काट रहा था फरारी

जिसमें वह वर्ष 2000 में चार हफ्ते की पैरोल पर आने के बाद अंडरग्राउंड हो गया था। आपको बता दे की 8 दिसंबर को जानकारी मिली कि सदर थाना सोनीपत क्षेत्र में 26 साल पहले हुई महिला केला की हत्या में दोषी करार दिया गया। चेतराम असम में रह रहा है। हरियाणा पुलिस को गुरुवार को पता लगा कि आरोपी गन्नौर क्षेत्र में आया है। इस पर पुलिस ने टीम बनाई टीम बनाई गई। टीम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस टीम ने आरोपी को सिटी थाना सोनीपत पुलिस को सौंप दिया। उसे अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।